कुरान के अपमान पर एमएसओ देवास ने वसीम रिजवी के खिलाफ दर्ज कराई पुलिस शिकायत

0
106

देवास | शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन मलऊन वसीम रिज़वी के द्वारा सुप्रीमकोर्ट में क़ुरान-ए-पाक से 26 मुक़द्दस आयतों को हटाने की अर्ज़ी दाख़िल करने और इस्लाम की महान हस्तियाँ पहले तीन खलीफाओं के खिलाफ झूठी बाते कहने पर मुस्लिम स्टूडैंटस आर्गेनाईज़ेशन आफ़ इंडिया की देवास यूनिट ने देवास पुलिस अधीक्षक को दिनांक 15 मार्च 2021 को वसीम रिज़वी के खिलाफ सख्त़ कार्यवाही करने के लिए आवेदन दिया, एम.एस.ओ. देवास यूनिट प्रेसिडेंट ने वसीम रिज़वी की सख्त अल्फाज़ में मज़म्मत की है। उन्होंने कहा है कि वह इस्लाम दुश्मन शख़्स है। और वो इस्लाम दुश्मन ताक़तों को ख़ुश करने के लिए हमेशा इस्लाम के ख़िलाफ़ ज़हर उगलता रहा है। वो अपने किए हुए जुर्म से अपनी गर्दन बचाने के लिए इस तरह की हरकत कर रहा है|

अमान रज़वी ने कहा कि क़ुरान-ए-पाक का एक एक हर्फ़ सच्चा है। इस किताब में शक की कोई गुंजाइश ही नहीं है। क़ुरान-ए-पाक जब से नाज़िल हुई है, आज तक इस में कोई बदलाव नहीं कर सका है | ख़ुद क़ुरआन में इस बात का चैलेंज है कि पूरी दुनिया मिलकर भी क़ुरआन की आयत जैसी एक आयत पेश नहीं कर सकती है और न ही इसको बदल सकती है । ऐसे में मलऊन वसीम रिज़वी के द्वारा क़ुरान-ए-पाक की 26 आयतों को इज़ाफ़ी बताना उस का पागलपन है।

वसीम रिज़वी की इस नापाक हरकत के खिलाफ तमाम मुसलमानों में नाराज़गी फैली हुई है जिसके चलते देवास में भी इसका असर देखने को मिला | इस मौके पर इकरार अशरफी, अकरम नक्शबंदी, सोनू जे.जे., रविश कुरैशी, अमन रजवाड़ा, शाहनवाज़ शेख, आवेश शेख, जीशान शेख, दानिश रज़वी और एम.एस.ओ. देवास यूनिट के सभी मेम्बर्स के साथ देवास के मुसलमानों ने अपनी मौजूदगी दर्ज कराई |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here