एमएसओ अहले सुन्नत की तंज़ीम, अहले सुन्नत ही अहले हक़ – मौलाना अशरफ़ नक्शबंदी

देवास। मुस्लिम स्टूडेंट्स आर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया द्वारा गुरुवार रात मुहम्मदी (रंगरेज़ान) मस्जिद में एक कार्यक्रम बनाम इस्लाहे मुआशरा का आयोजन हुआ जिसकी सदारत हज़रत अल्लामा हाफ़िज़ अतीक नक्शबंदी साहब ने की और उत्तराखंड से आये हुवे मेहमान पीरे तरीक़त हज़रत अल्लामा मौलाना अशरफ़ नक्शबंदी साहब ने बयान किया.

एम.एस.ओ कन्वेनर अमान रज़वी ने बताया कि हज़रत का बयान दौरे हाज़िर में मौजूद तमाम बुराइयों और फ़ितनों के रद्द में था जिसमे उन्होंने माँ बाप की बात मानने पड़ोसियों के हुक़ुक़ अदा करने और नशे से दूर रहने की नसीहत करते हुवे दहशतगर्दी फैलाने वालों, नबी पाक की गुस्ताखियां करने वालों और मुसलमानों को हक़ से दूर करने वालों से बचते हुवे अहले सुन्नत यानी अहले हक़ के साथ रहने की ताकीद की और एम.एस.ओ के साथ तमाम सुन्नी तंजीमों के लिए दुआ भी फरमाई.

मस्जिद कमेटी और तंज़ीम के जिम्मेदारों द्वारा हज़रत का इस्तक़बाल किया गया को कन्वेनर इक़रार अशरफी ने तमाम आये हुवे मेहमानों का शुक्रिया अदा किया कार्यक्रम में अकरम नक्शबंदी, दानिश रज़वी, शाहनवाज शेख, अब्दुल राज़ीक़, जीशान शेख, वसीम अशरफी, रवीश कुरैशी, अमन क़ादरी के साथ तमाम एम.एस.ओ के मेंबर्स मौजूद रहे.

Latest articles

46,417FansLike
5,515FollowersFollow
6,254FollowersFollow

Related articles

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

46,417FansLike
5,515FollowersFollow
6,254FollowersFollow

Events