ऑटो चालक की पिटाई मामले में एमएसओ ने की बजरंग दल के गुंडों पर रासुका लगाने की मांग

कानपुर – देश के सबसे बड़े छात्र संगठन मुस्लिम स्टूडेंट ओर्गेनाईज़ेशन ऑफ इंडिया की कानपुर यूनिट के प्रेसीडेन्ट मुहम्मद वासिक बेग बरकाती ने अपने पदाधिकारियों के साथ मिलकर पिछले दिनों बर्रा में हुई घटना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया व ज़िलाधिकारी कानपुर महोदय से दोषी बजरंग दल के कार्यकर्ताओं पर कड़ी कार्रवाई व रासुका लगाने की मांग की। इस मौके पर वासिक बेग बरकाती ने कहा के बर्रा के पूरे प्रकरण की उच्चस्तरीय जाँच कराई जाये व अमन के दुश्मनों को ऐसा सबक मिले जिससे दोबारा वो ऐसी हरकत न कर सकें।

वासिक बेग ने बताया कि कानपुर बर्रा-8 में एक बस्ती में दो पड़ोसी कुरैशा बेगम व रानी के परिवार में बाइक के मुद्दे को लेकर झगड़ा शुरु हुआ था, इसमे कुरैशा बेगम ने रानी व उनके परिवार द्वारा मारपीट करने व रानी ने 09 जुलाई को कुरैशा बेगम के पुत्रों द्वारा किशोरी पुत्री से छेड़छाड़ व धर्म परिवर्तन का दबाव डालने की शिकायत बर्रा थाना में की थी रानी ने पुलिस कार्यवाही न करने की बात कही और उसके बाद बजरंग दल के पदाधिकारी स्वयं ही पुलिस व जज की तरह कुरैशा बेगम के घर सैकड़ो की तादात में उसके पुत्रों को सज़ा देने पहुंचे घर पर उसके पुत्र नही मिले लेकिन सड़क पर कुरैशा बेगम का देवर ई रिक्शा चलाने वाला अफसार मिल गया बजरंग दल के लोग उसके साथ मारपीट के साथ जय श्रीराम के नारे लगवाए अपने पिता को पीटते देख उसकी मासूम बच्ची अपने पिता से लिपटकर रोती-गिड़गिड़ाती अब्बा को छोड़ने की फरियाद करती रही लेकिन बच्ची की फरियाद बजरंग दल की हिंसक भीड़ ने नही सुनी उनको बच्ची पर रहम नही आया वो अफसार को पीटते रहे और जय श्रीराम के नारे लगवाते रहे पुलिस ने बड़ी मुश्किल से अफसार को बजरंग दल के लोगो से बचाया।

पुलिस ने जब बजरंग दल के लोगो के साथ सख्ती की कानून व्यवस्था बिगड़ने से बचाने वाली पुलिस पर ही उल्टा आरोप लगाकर पुलिस पर ही भेदभाव का आरोप लगाकर कार्यवाही की मांग करने लगे। इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद हालात और खराब होते इससे पहले ही मारपीट व जबरदस्ती जय श्रीराम के नारे लगाने वालों पर कार्यवाही करते हुए पुलिस ने विहिप के नगर मंत्री समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया और कुरैशा बेगम के पुत्रो की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिशें भी डाल रही है। कानपुर के खुशगवार माहौल को खराब करने वालों पर कार्यवाही होनी चाहिए वो फिर किसी भी धर्म व संगठन से जुड़े हो जबरन धर्मांतरण कराने की शिकायत की भी जाँच कर दोषियो पर कड़ी कार्रवाई करे।

यह घटना देश के संविधान को चुनौती देने वाली है साथ ही मुसलमानों को भयभीत, भड़काने व हिंदू सनातन धर्म का भी अपमान है कोई भी ज़ोर जबरदस्ती कर दूसरे धर्म के लोगो के अपमान की इजाज़त नही देता लेकिन अमन के दुश्मनों को तो धर्म से क्या मतलब उनको तो अमन बिगाड़ना है बस ! अमन के दुशमन कानपुर नगर के खुशगवार माहौल को खराब करने का प्रयास कर रहे है। कानपुर पुलिस ने अपनी भूमिका का पूरी तरह निर्वाहन किया पुलिस की कार्यशैली सराहनीय रही साम्प्रदायिक रंग देने की कोशिशों को नाकाम किया लेकिन ऐसी घटनाएं दोबारा न हो इस ओर अधिक ध्यान देना अति आवश्यक है। प्रतिनिधिमंडल में वासिक बेग बरकाती, अदनान अहमद,अब्दुल शेख, सुहैल कुरैशी, फहद खान, आमिर अंसारी, सुहैल खान आदि लोग मौजूद थे।

Latest articles

46,417FansLike
5,515FollowersFollow
6,254FollowersFollow

Related articles

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

46,417FansLike
5,515FollowersFollow
6,254FollowersFollow

Events