एमएसओ ने किया जश्ने ईद मिलादुन्नबी का आयोजन

कानपुर – पैग़म्बर ए इस्लाम हज़रत मुहम्मद मुस्तफा (स.अ.व.) की विलादत माह का चाँद निकलने के साथ ही मिलादुन्नबी के प्रोग्राम जगह जगह हो रहे हैं। सोमवार को एम. एस. ओ. कानपुर यूनिट की जानिब से जश्ने ईद मिलादुन्नबी का प्रोग्राम वासिक बेग बरकाती के चमन गंज स्थित निवास पर हुआ जिसमें करीब 100 लोगों ने शिरकत की।

प्रोग्राम की सरपरस्ती हस्सानुल बरकात मौलाना कारी कासिम हबीबी बरकाती और सदारत शहरकाज़ी कानपुर मुफ्ती साकिब अदीब मिस्बाही साहब ने की। प्रोग्राम का संचालन वारिस चिश्ती ने किया और कलीम दानिश, अतीक फतेहपुरी, उमैर बरकाती, मुज़म्मिल चिश्ती, हाफिज़ इरफान बेग, अदनान बरकाती, आदिल कादरी ने नात शरीफ पढ़ी जिसे सुनकर अकीदतमंदो ने सुब्हान अल्लाह की सदायें बुलंद की।

मुफ्ती साकिब अदीब मिस्बाही साहब ने तकरीर की और समाज मे फैली बुराईयों को दूर करने, जल, पेड़-पौधों का महत्व, बेटियों को इल्म दिलाने व हिन्दू-मुस्लिम एकता को मज़बूत करने का संदेश दिया और कहा जुआ सट्टा, नशा-शराब से दूर रहे, गरीबों मज़लूमों यतीमों की मदद करे, बेटो-बेटियों को इल्म दिलाए, भूखों को खाना खिलाएं, पड़ोसी की मदद करें, पेड़-पौधो लगाए उसे नष्ट न करें, जल बचाये, अपने मुल्क से मुहब्बत करें, साफ-सफाई का ध्यान रखें, गंदगी फैलाने से बचें, कुदरत की ऑक्सीजन को नष्ट न करें, नमाज़ कायम करें, सभी मज़हब की इज़्ज़त करे।

वहीं कारी कासिम हबीबी सासब ने तकरीर की और कहा पूरी दुनिया मे गरीबों, मज़लूमों के मददगार, इंसानियत-मुहब्बत की सीख देने वाले हज़रत मुहम्मद मुस्तफा (स०अ०व०) की यौम ए विलादत पर खुशी मनाना सहाबा की सुन्नत है उनके पैगाम को आम करो समाज में फैली बुराइयों को दूर करो तालीम को आम करो अपने मज़हब से मुहब्बत करो व दूसरे मज़हब की इज़्ज़त करो।

उन्होने हज़रत मुहम्मद (स०अ०व०) की विलादत के वक्त का मंज़र बयान किया और कहा, जब हमारे नबी इस दुनिया में तशरीफ लाये थे तो सभी फरिश्तो और नबीयो ने उन पर सलातो सलाम पढ़ा आइये हम लोग भी अपने नबी पर सलातो सलाम पढ़े फिर सबने खड़े होकर सलातो सलाम पढ़ा इसके बाद शहरकाज़ी साहब ने दुआ फरमाई ।

प्रोग्राम में मुख्य रूप से नायब शहरकाज़ी कारी सगीर आलम, महबूब खान, अतीक बरकाती, आरिफ बेग, खुर्शीद आलम, डाक्टर ज़ीशान, वासिम सिद्दीकी, सैय्यद आरिफ आलम, इमरान बेग, अरसल बेग, ज़ाहिद फारूकी, आबिद फारूकी, अब्दुल, मु. सुहैल, आदि लोग मौजूद रहे।

Latest articles

46,417FansLike
5,515FollowersFollow
6,254FollowersFollow

Related articles

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

46,417FansLike
5,515FollowersFollow
6,254FollowersFollow

Events